छत्तीसगढ़

नक्सली आड़ लेकर करोड़ों का चाँवल बेच खाया, नमक कूड़े में

नक्सली आड़ लेकर करोड़ों का चाँवल बेच खाया, नमक कूड़े में

Breaking, Top News, छत्तीसगढ़
 चिंतलनार से ३ किमी दूर कोत्तागुड़ा मार्ग पर फेंक दिया सरकारी अमृत नमक सुकमा, 05 जुलाई (एनपी)। सुकमा जिला के चिंतलनार में राशन माफियाओं ने नक्सलियों की दहशत की आड़ में गरीबों को दिया जाने वाला सरकारी सस्ता अनाज खुले बाजार में बेच खाया। वहीं बचा सरकारी अमृत नमक को कूड़े में फेंक दिया और सरकारी रिकार्ड में चाँवल, शक्कर, मिट्टीतेल व नमक को शत-प्रतिशत बाँट दिया। राशन दुकान संचालक यह बोलने से भी बाज नहीं आ रहे हैं कि ग्रामीणों को सरकारी नमक रास नहीं आ रहा है। जबकि ग्रामीणों ने बताया कि खाने के लिए चाँवल ही नहीं है तो मुफ्त नमक का क्या करेंगे ? ग्रामीणों ने बताया कि चिंतलनार-कोत्तागुड़ा मार्ग पर जंगल में नमक की बोरियाँ कचरे के ढेर में फेंकी गई है. इन्वेस्टीगेशन किया तो सामने आया कि ये बोरियाँ राज्य सरकार द्वारा जरूरतमंदों को मुफ्त में दिय जाने वाले अमृत नमक की हैं. मौके पर कई बोरियाँ पड़ी ह
कम से कम 100 एकड़ में ब्लॉक प्लानटेंशन करें-श्री बोरा

कम से कम 100 एकड़ में ब्लॉक प्लानटेंशन करें-श्री बोरा

छत्तीसगढ़
संभाग के सभी कलेक्टरों को निर्देश बिलासपुर 04 जुलाई (एनपी)। हरियाली एवं पर्यावरण संरक्षण की दृष्टि से तथा जरूरतमंद लोगों के लिए आय का जरिया बनें, इसके लिए संभाग के सभी जिलों में कम से कम 100 एकड़ में ब्लॉक प्लानटेंशन करें। इसके साथ ही कोसाफल संग्रहण, धागाकरण एवं इसके लिए हितग्राहियों को प्रशिक्षण भी दें। संभागायुक्त श्री सोनमणि बोरा ने 02 जुलाई 2015 को कोरबा कलेक्टोरेट में संभाग के सभी कलेक्टरों की बैठक में उक्त निर्देश दिए। संभागायुक्त श्री बोरा ने कहा कि सभी जिले में कम से कम 100-100 एकड़ चयनित कर पौधरोपण करायें। इसके साथ ही हितग्राहियों को कोसा फल संग्रहण एवं धागाकरण के लिए प्रशिक्षण भी दें। उक्त तीनों कार्य साथ-साथ चलना चाहिए। श्री बोरा ने कहा कि इसमें ऐसे पौधों को प्राथमिकता दें, जिसमें अधिक से अधिक कोसाफल उत्पादन किया जा सके। इससे इको टूरिज्म की दृष्टि से भी बढ़ावा दिया जा सकत
बच्चों में शिक्षा के प्रति रूचि जागृत करने शिक्षकों की महत्वपूर्ण भूमिका-श्री बोरा

बच्चों में शिक्षा के प्रति रूचि जागृत करने शिक्षकों की महत्वपूर्ण भूमिका-श्री बोरा

एजुकेशन, छत्तीसगढ़
जिला शिक्षा व प्रशिक्षण संस्थान में आयोजित प्रशिक्षण कार्यक्रम में शामिल हुए संभागायुक्त बिलासपुर 04 जुलाई (एनपी)। स्कूली बच्चों के मन से गणित व अंग्रेजी जैसे विषयों का डर हटाना जरूरी है। जिससे कि उक्त दोनों विषयों में बच्चे भरपूर रूचि लेकर पढ़ाई करें। इसमें शिक्षक महत्वपूर्ण भूमिका का निर्वहन कर सकते हैं। संभागायुक्त श्री सोनमणि बोरा 02 जुलाई को जिला शिक्षा व प्रशिक्षण संस्थान कोरबा में आयोजित प्राथमिक स्तर के शिक्षकों के 03 दिवसीय गणित विषय के प्रशिक्षण कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। संभागायुक्त श्री बोरा ने कहा कि बच्चों की पठन-पाठन में रूचि जागृत हो तथा बच्चे स्वेच्छा से विषय वस्तु को सिखने में तत्पर हों। इसके लिए यह आवश्यक है कि शिक्षकगण विषय वस्तु को रोचक ढंग से प्रस्तुत करें। उन्होंने कहा कि बच्चों के मन से गणित व अंगे्रजी जैसे विषयों का डर हटाना जरूरी है जिससे बच्चे दोनों विष
मंडल रेल प्रबंधक श्री राजीव सक्सेना के द्वारा तरण ताल (स्वीमींग पूल)बी एम वॉय भिलाई का शुभारंभ

मंडल रेल प्रबंधक श्री राजीव सक्सेना के द्वारा तरण ताल (स्वीमींग पूल)बी एम वॉय भिलाई का शुभारंभ

छत्तीसगढ़
भिलाई 04 जूलाई(एनपी)। दिनांक 04.07.2015 को बी एम वॉय भिलाई में रेलवे कर्मचारीयों के लिए स्वीमींग पूल का शुभारंभ मंडल रेल प्रबंधक श्री राजीव सक्सेना ने किया । इस अवसर पर मंडल इंजीनियर  श्री बी.एन. मंडल एवं सहायक मंडल इंजीनियर श्री एस. पी सिंह, यूनियन के मंडल समन्वक श्री डी. विजय कुमार सहित रायपुर मंडल के सभी वरिश्ठ अधिकारी एवं सिनियर सैक्षन इंजीनियर एवं कर्मचारी तथा उपस्थित थे। इस स्वीमींग पूल के बनने से कर्मचारियों के साथ उनके परिवार के सदस्य भी तैराकी सिख सकेगें जिससे उन्हें स्वास्थ लाभ होगा। इस स्वीमींग पूल को 25 मीटर लंबा एवं 12.5 मीटर चौड़ा बनाया गया हैं इसकी गहराई 3 से 5 फीट के मध्य रखी गई है। इसको बनाने में लगभग 79,51,851 रुपए की लागत आई है।
नक्सलवाद खत्म होगा तो विकास तेज होगा

नक्सलवाद खत्म होगा तो विकास तेज होगा

छत्तीसगढ़
राजनांदगांव 4 जुलाई(एनपी)। पुलिस अधीक्षक कार्यालय से प्राप्त जानकारी के अनुसार जिला राजनांदगांव अंतर्गत विगत 04-05 बर्षो से योजनाबद्व तरीके से संचालित नक्सल विरोधी अभियान के कारण से जिले की कई क्षेत्र में नक्सल संगठन का खात्मा होकर तेज रफतार से विकास कार्य प्रगति पर है। विगत 25-30 सालो से माओंवादियों द्वारा काल्पनिक एवं अव्यवाहरिक तथा विकास विरोधी विचारधाराओं के माध्यम से अंदरूनी इलाके की आम जनता को गुमराह करते हुए क्षेत्र की विकास में बाधा बने है लेकिन जिले की जनता द्वारा माओंवादियों के सिद्वान्त के खोखलेपन को समझते हुए नक्सलाइड का साथ छोडकर शासन प्रशासन का साथ देकर आने वाली पीड़ी हेतु एक मजबूत नींव रखना शुरू कर दिया है। इस कारण से जिला की अंदरूनी एवं सीमावर्ती क्षेत्र में भी सड़क निर्माण, पुल-पुलिया निर्माण, एवं अन्य जनकल्याणकारी कार्य प्रारम्भ होकर आम जनता लाभान्वित हो रहे है। जिला अंतर
सरगुजा संभाग में किसानों को 56 करोड़ रूपये का अल्पकालीन ऋण वितरित

सरगुजा संभाग में किसानों को 56 करोड़ रूपये का अल्पकालीन ऋण वितरित

छत्तीसगढ़
अम्बिकापुर 04 जुलाई (एनपी)। चालू खरीफ सीजन में सरगुजा संभाग में खरीफ फसलों की खेती के लिए किसानों को 56 करोड़ 11 लाख 33 हजार रूपये का अल्पकालीन ऋण 0 प्रतिषत ब्याज दर पर उपलब्ध कराया गया है। इसके साथ ही 25925 क्विंटल बीज और 22759 मिट्रिक टन खाद किसानों को उपलब्ध कराया गया है। यह जानकारी पिछले दिनों यहां सरगुजा संभाग के कमिष्नर श्री टी.सी.महावर द्वारा कमिष्नर कार्यालय के सभाकक्ष में कृषि विभाग के अधिकारियों की समीक्षा बैठक में दी गई। बैठक में बताया गया कि सरगुजा संभाग की सहकारी समितियों में 29392 मि.टन रासायनिक खाद का भण्डारण किया गया है, जिसमें से सरगुजा जिले में 8329 मि.टन, बलरामपुर जिले में 5013 मि.टन, सूरजपुर में 6993 मि.टन और कोरिया जिले में 4893 मि.टन तथा जषपुर जिले में 4164 मि.टन रासायनिक खाद का भण्डारण किया गया है। इनमें से सरगुजा जिले में युरिया 3979 मि.टन, सुपर फास्फेट 91 मिटन, ईफ