डब्ल्यूटीओ वार्ता में पांचवें दिन भी गतिरोध बरकरार रहा

नैरोबी,19 दिसंबर (एनपी)। विश्व व्यापार संगठन (डब्ल्यूटीओ) वार्ता के पांचवें दिन भी आज कृषि सब्सिडी घटाने और आयात बढऩे की स्थिति में गरीब किसानों को सुरक्षा प्रदान करने के मुद्दे पर गतिरोध बरकरार रहा। डब्ल्यूटीओ की 10वीं मंत्रिस्तरीय बैठक पिछली रात समाप्त होनी थी लेकिन विकसित और विकासशील देश इन मुद्दों पर मतभेद मिटाने में नाकाम रहे। सूत्रों ने कहा ”बैठक पिछली रात से अभी तक जारी है। विभिन्न देशों- भारत, अमेरिका, यूरोपीय संघ, चीन और ब्राजील का एक छोटा समूह इन मुद्दों पर विचार कर रहा है। भारत ने साफ किया है कि वह किसानों के हितों और कृषि संबद्ध क्षेत्रों से समझौता नहीं करेगा। भारत ने नैरोबी घोषणापत्र की प्रस्तावना में खाद्य सुरक्षा के लिए सार्वजनिक भंडारण मुद्दों को शामिल करने की भी मांग रखी। भारत यह भी चाहता है कि विशेष सुरक्षा प्रणाली (एसएसएम) को बाजार पहुंच से अलग करना चाहिए। दूसरी ओर अमेरिका समेत विकसित देश दोहा विकास एजेंडे को खत्म करने के प्रति मुखर रहे हैं। बुधवार को ट्विटर पर कुछ लोगों ने भारत पर वार्ता में अड़ंगा लगाने और कुछ अन्य ने अमेरिका पर आरोप लगाया। वाणिज्य एवं उद्योग मंत्र निर्मला सीतारमण ने भारत के खिलाफ लगे आरोपों को खारिज करते हुए कहा ”भारत डब्ल्यूटीओ वार्ता में अड़ंगा लगा रहा है? असहमत हूं, यह सुनिश्चित करने की जरूरत है कि भारतीय किसान-कृषि हित सुरक्षित हैं। विकसित देशों के हित में चुनिंदा मामलों को आगे बढ़ाने में बेवजह की जल्दी चिंता का विषय है।