रायपुर ।  गृहमंत्री श्री रामसेवक पैकरा के मुख्य आतिथ्य में आज 17 उप पुलिस अधीक्षकों (अष्टम सत्र) का दीक्षांत परेड समारोह छत्तीसगढ़ राज्य पुलिस अकादमी चंदखुरी में सम्पन्न हुआ।     दीक्षांत समारोह कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए गृह मंत्री श्री रामसेवक पैकरा ने पुलिस अधिकारियों को सम्बोधित करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री के इच्छाशक्ति के अनुसार ही प्रदेश के उत्तरी भाग से नक्सलवाद समाप्त हो चुका है और विगत 15 वर्षों में छत्तीसगढ़ पुलिस बल में काफी वृद्धि हुई है, जिससे प्रदेश की जनता अपने आपको सुरक्षित महसूस कर रही है। श्री पैकरा ने कहा कि प्रशिक्षण अकादमी में इन पुलिस अधिकारियों को मानसिक, शारीरिक एवं बौद्धिक प्रशिक्षण दिया गया है। इस प्रशिक्षण को आम जनता के बीच आपको आदर्श के रूप में स्थापित करना है। राज्य के दक्षिणी क्षेत्र से नक्सलवाद का शीघ्र खात्मा के लिये राज्य सरकार ने दृढ़ संकल्प लिया है। उन्होंने कहा कि हमारे प्रदेश में आदिवासी अंचलों में बाहरी तत्व आकर नक्सलवाद के माध्यम से विकास को रोक रहे हैं। राज्य सरकार प्रदेश में विकास की नई इबादत लिख रही है। आपके संकल्प से ही राज्य के दक्षिण क्षेत्र से नक्सलवाद का खात्मा होगा। श्री पैकरा ने कहा कि अपने मैदानी क्षेत्रों में सेवा के दौरान आपके समक्ष जो पीड़ित व्यक्ति आयेंगे उनकी रक्षा करना और उनका विश्वास अर्जित करना ही आपका संकल्प होगा। आप अपनी जिम्मेदारी निष्पक्षता से निष्ठापूर्वक निभायेंगे। श्री पैकरा ने प्रशिक्षण प्राप्त अधिकारियों के परिजनों को बधाई देते हुए कहा कि हमें गर्व है कि उन्होंने आप जैसे सपूतों को जन्म दिया है।
पुलिस महानिदेशक श्री ए.एन. उपाध्याय ने अपने उद्बोधन में कहा कि पुलिस सेवा विज्ञान या सिद्धांत पर आधारित सेवा होने के साथ ही व्यवहारिक धरातल पर एक कला भी है। पुलिस अकादमी में आपको बुनियादी प्रशिक्षण दिया गया है, परन्तु एक पुलिस अधिकारी अपने सेवाकाल में हमेशा ट्रेनिंग प्राप्त करता रहता है। मुझे उम्मीद है कि आप सफल अधिकारी बनेंगे और फील्ड में जो कार्यवाही करते हैं उस पर आपकी बुनियादी प्रशिक्षण का असर दिखेगा। जनता के भरोसे और विश्वास को कायम रखना आपका दायित्व है। साथ ही आपको मानवीय संवेदनाओं को जीवित रखते हुए अपराधियों और आतताईयों के विरूद्ध विधिसम्मत कार्यवाही करना है तभी आप एक दक्ष अधिकारी साबित होंगे। श्री उपाध्याय ने इन पुलिस अधिकारियों और उनके परिजनों को बधाई देते हुए कहा कि आज का दिन आप सबके लिये बहुत गौरव का दिन है।
इस अवसर पर पुलिस अकादमी के उप निदेशक श्री आर.एस. नायक ने प्रतिवेदन प्रस्तुत किया। दीक्षांत परेड़ कार्यक्रम के अवसर पर बुनियादी प्रशिक्षण में विभिन्न विषयों पर पुरस्कार प्राप्त करने वाले प्रशिक्षणाथियों को गृहमंत्री द्वारा प्रशस्ति पत्र एवं मेडल प्रदान किया गया – सत्र का सर्वोत्तम प्रशिक्षणार्थी – अभिनव उपाध्याय, सत्र का द्वितीय सर्वोच्च प्रशिक्षणार्थी – कु. उन्नति ठाकुर, आउटडोर विषय में प्रथम – भावेश कुमार समरथ, इंडोर विषय में प्रथम – कु. उन्नति ठाकुर, फायरिंग में प्रथम – कु. आशा कुमारी सेन, विधि विज्ञान में प्रथम – कु. उन्नति ठाकुर (लोकनायक जय प्रकाश नारायण राष्ट्रीय अपराध शास्त/फोरेन्सिक साईंस संस्थान गृह मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा प्रदत्त मेडल एवं उत्कृष्टता प्रमाण पत्र), अपराध शास्त्र में प्रथम – कु. कल्पना वर्मा (लोकनायक जय प्रकाश नारायण राष्ट्रीय अपराध शास्त्र/फोरेन्सिक साईंस संस्थान गृह मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा प्रदत्त मेडल एवं उत्कृष्टता प्रमाण पत्र), अपराध अनुसंधान में प्रथम – कु. आशारानी , कानून विषय में प्रथम -योग्यता साहू (परि. जिला सेनानी)।

इस कार्यक्रम में यूनियन होम मिनिस्टर मेडल वर्ष 2015 के विजेता अधिकारियों/कर्मचारियों को भी मेडल गृहमंत्री जी द्वारा प्रदान किया गया-श्री तुशारकंात मजूमदार, कंपनी कमाण्डर, पी.टी.सी. बोरगांव, छ.ग.-प्रशिक्षण संस्थान में बाह्य प्रशिक्षक के कार्य के प्रति रूचि एवं कर्तव्यनिष्ठा के लिए श्री रवि कुमार थापा, प्रधान आरक्षक, सीटीजेडब्ल्यू कॉलेज कांकेर, छ.ग. – प्रशिक्षण संस्थान में बाह्य प्रशिक्षक के कार्य के प्रति रूचि एवं कर्तव्यनिष्ठा के कारण, श्री विजय कुमार निम्बालकर, प्रधान आरक्षक, 3री वाहिनी छ.स.बल, अमलेश्वर, दुर्ग-वर्ष 2007 से 2017 तक राज्य पुलिस अकादमी चंदखुरी में पदस्थ होकर प्रशिक्षण संस्थान में सर्पोटिंग स्टॉफ के रूप में कार्य के प्रति रूचि एवं कर्तव्यनिष्ठा के लिए इनके अतिरिक्त इन अधिकारियों को पदक एवं नगद राशि प्रदाय किया गया – श्री योगेश तिवारी, प्र.आर., अजाक जिला बिलासपुर – गुरू घासीदास पुरस्कार – 50,000/- नगद, प्रशंसा पत्र एवं रनिंग शील्ड , श्रीमती नंदनी ठाकुर, उप निरीक्षक, महिला प्रकोष्ठ, राजनांदगांव – राज्यपाल पुरस्कार – 50,000/- नगद, प्रशंसा पत्र एवं रनिंग शील्ड, श्री डिगेश्वर दीवान, उप पुलिस अधीक्षक, जिला बिलासपुर – मुख्यमंत्री पुरस्कार- 50,000/- नगद, प्रशंसा पत्र एवं रनिंग शील्ड, श्रीमती पी.अनुराधा राव, उप निरीक्षक महिला थाना जिला रायपुर – रानी सुबरन कुंवर पुरस्कार – 50,000/- नगद, प्रशंसा पत्र एवं रनिंग शील्ड, श्री वेदराम खुंटे, सहा. उप निरीक्षक, अजाक थाना जिला राजनांदगांव – वीर नारायण सिंह पुरस्कार, 50,000/- नगद, प्रशंसा पत्र एवं रनिंग शील्ड, श्रीमती नवीमोनिका पाण्डे, निरीक्षक, जिला दुर्ग वर्तमान जिला राजनांदगांव – पुलिस महानिदेशक पुरस्कार, 25,000/- नगद, प्रशंसा पत्र एवं रनिंग शील्ड, दीक्षांत परेड समारोह के बाद  माननीय गृह मंत्री श्री पैकरा ने अकादमी मंे 4 करोड़ 12 लाख रूपए की लागत से नवनिर्मित अंतर्राष्ट्रीय मानक के स्वीमिंग पूल एवं जीम का उद्घाटन भी किया। दीक्षांत समारोह का आभार प्रदर्शन अकादमी के पुलिस अधीक्षक श्री शशिमोहन सिंह ने किया।

इस समारोह में विशिष्ट अतिथि श्री लाभचंद बाफना, संसदीय सचिव, गृह, जेल एवं लोक स्वास्थ्य, आरंग विधानसभा क्षेत्र के विधायक श्री नवीन मारकण्डेय, अति. पुलिस महानिदेशक प्रशिक्षण श्री संजय पिल्ले, अति. पुलिस महानिदेशक सीआईडी श्री ए.डी.गौतम, पुलिस महानिरीक्षक (प्रशिक्षण) श्री एस.आर.पी. कल्लूरी एवं अन्य वरिष्ठ पुलिस अधिकारीगण सम्मिलित हुए। साथ ही अकादमी के उप निदेशक श्री आर.एस. नायक, पुलिस अधीक्षक श्री शशिमोहन सिंह, अति. पुलिस अधीक्षक श्रीमती डॉ. संगीता पीटर्स, श्री मिर्जा जियारत बेग, उप पुलिस अधीक्षक श्री रमाशंकर द्विवेदी, श्रीमती रूपा खेस, श्री प्रवीण पुरसेठ, स्टेनो जीत कुमार देवांगन एवं अकादमी के समस्त अधिकारी, कर्मचारीगण उपस्थित थे।