पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के अधिकारियों ने आज यहां बताया कि केन्द्रीय ग्रामीण विकास मंत्रालय द्वारा प्रतिवर्ष मनरेगा अंतर्गत विभिन्न क्षेत्रों में उत्कृष्ठ प्रदर्शन करने वाले राज्यों, जिलों, ग्राम पंचायतों और डाक विभाग के अधिकारियों को राष्ट्रीय स्तर पर पुरस्कृत किया जाता है। केन्द्र सरकार द्वारा इस वर्ष घोषित राष्ट्रीय पुरस्कारों में छत्तीसगढ़ को तीन स्तर के 06 राष्ट्रीय पुरस्कार प्राप्त होंगे। इनमें 02 पुरस्कार राज्य स्तर के, 01 पुरस्कार जिला स्तर का एवं 03 पुरस्कार डाक विभाग के कर्मियों को प्राप्त हुआ हैं। केन्द्र सरकार द्वारा जारी परिपत्र के अनुसार पारदर्शिता के उद्देश्य से महात्मा गांधी नरेगा के तहत बन रही परिसम्पत्तियों के भौगोलिक स्थिति के चिन्हांकन के लिए जिओ-मनरेगा एप्लीकेशन में उत्कृष्ठ प्रदर्शन हेतु राज्य को पूरे देश में दूसरा स्थान प्राप्त हुआ है। वहीं मैदानी स्तर पर योजना के तहत निर्माण कार्यों में तकनीकी सहायता उपलब्ध कराने के उद्देश्य से ग्रामीण क्षेत्र के युवकों को बेयरफुट तकनीशियन बनाने की बेयरफुट परियोजना के बेहतर क्रियान्वयन के लिए प्रदेश को मिजोरम के साथ संयुक्त रुप से पूरे देश में प्रथम स्थान मिला है।
अधिकारियों ने बताया कि जिला स्तर के राष्ट्रीय पुरस्कार में  जशपुर जिले को वित्तीय वर्ष 2016-17 में योजना के बेहतरीन क्रियान्वयन के लिए पुरस्कार दिया जाएगा। इस श्रेणी में देशभर के 18 जिलों का चयन हुआ है। इसके अलावा डाक विभाग के भी 03 कार्मिकों को योजना के प्रभावी पहल के लिए पुरस्कार दिए जाएंगे।