हल निशान मिलते ही छजकां ने पोस्टर जारी कर लगाया आरोप, रमन-बृजमोहन को सिंहदेव और बघेल का बताया दोस्त

  •   अब चलेगा सियासी दलों में पोस्टर वॉर

रायपुर  । जनता कांग्रेस के पोस्टर मे भूपेश बघेल और मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह को दोस्त बताया है। इसी तरह जारी पोस्टर में मंत्री बृजमोहन अग्रवाल को नेताप्रतिपक्ष टीएस सिंहदेव का मित्र जाहिर किया गया है। कुलमिलाकर छजकां के इस पोस्टर में दोनों दलों के चार प्रमुख नेताओं को एक बताया गया है। पोस्टर में दर्शाया गया है कि छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस जे का चुनावी चिन्ह मिलने और अब कमीशन-भ्रष्टाचार खत्म होने का दुख जाहिर करते दिखाया गया है। हालाकि चारों नेताओं को भाजपा और कांग्रेस कार्यालय के सामने बैठे दिखाया गया है।
जनता कांग्रेस ने चुनाव चिन्ह आते ही भाजपा कांग्रेस दोनों पर वार करना शुरू कर दिया है। रविवर को जनता कांग्रेस ने एक पोस्टर जारी किया है, जिसमे कांग्रेस और भाजपा के दो-दो कद्दावर नेताओं को दिखाया गया है। पोस्टर मे भाजपा और कांग्रेस का प्रदेश कार्यालय नजऱ आ रहा है वही जनता कांग्रेस का नया लोगो भी उसमे लगाया गया है। पीसीसी चीफ भूपेश बघेल पोस्टर मे कह रहें है की जोगी का निशान, हल चलता किसान, आ गया दोस्तों ऐसे ही मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह को पोस्टर मे अब हमारे भ्रष्टाचार और कमीशन खोरी के दिन गए दोस्तों यह कहते हुए दिखाया गया है। इस पोस्टर के वायरल होते ही सियासी हलकों में इसे बेमानी बताया जा रहा है। सियासतदाओं का कहना है कि यह महज मनगढ़ंत आरोपों वाला अपरिपक्वता भरा पोस्टर है।

बेमानी पोस्टर कह रहे सियासतदां
कांग्रेस के सीनियर लीडर और बीजेपी संगठन के नेता इस पोस्टर को महज चुनावी दुष्प्रचार मानकर खारिज कर रहे हैं। नेतागण कथित पोस्टर में जारी संवाद और मित्रवत वार्तालाप को छजकां का दिमागी दिवालियापन बता रहे हैं। क्योंकि सभी जानते हैं कि पीसीसी चीफ भूपेश बघेल लगातार मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह पर आरोप लगाते रहे हैं। दोनों के रिश्ते भी तल्ख हैं, उसी तरह मंत्री बृजमोहन अग्रवाल और नेताप्रतिपक्ष टीएस सिंहदेव को भी दोस्त बताना बेमानी है। हालाकि पोस्टर का उद्देश्य जो भी रहा हो पर यह साफ है कि छजकां सुप्रीमो अजीत जोगी पर भूपेश हमेशा से सीएम का दोस्त होने का आरोप लगता रहे हैं। संभवतया यह पोस्टर उसी का पलटवार है।

कांग्रेस भी लगाई है दोस्ती का आरोप
पीसीसी चीफ से तल्ख रिश्तों की शुरुआत जोगी परिवार की अंतागढ़ टेप कांड के बाद से ही है। कथित टेप में सौदेबाजी के लिए अमित और अजीत जोगी की आवाज बताकर भूपेश ने ही इसे मुद्दा बनाकर पिता-पुत्र को पार्टी से बाहर जाने विवश कर दिया था। फिर कई बयानों में कांग्रेसी नेताओं व पीसीसी चीफ ने रमन-जोगी की दोस्ती वाले स्लोगन और फोटो अटैक कर चुके हैं। इसलिए उन आरोपों का बदला छजकां विभिन्न मुद्दों को विधानसभा सत्र में नहीं उठाने को लेकर भूपेश-सिंहदेव की रमन-बृजमोहन से दोस्ती का दुष्प्रचार करने वाला पोस्टर कथित तौर पर जारी किया है।

इंट का जवाब पत्थर से ही दिया जाता है। प्रथम मुख्यमंत्री अजीत जोगी जी या फिर अमित जोगी को कांग्रेस बीजेपी का दोस्त बताती है। रमन सिंह से दोस्ती का दुष्प्रचार कांग्रेस करती आ रही है छजकां नहीं। यह पोस्टर तो असली रिश्ते जाहिर करता है कि रमन सरकार से नेताप्रतिपक्ष सिंहदेव और पीसीसी चीफ भूपेश के कितने मधुर संबंध है जो कई बड़े मुद्दे विधानसभा में उठाने के बदले भागते रहे हैं।
आरके राय, विधायक गुंडरदेही 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *