हंगामे के भेंट चढ़ा मानसून सत्र का पहला दिन, सदन की कार्यवाही कल तक के लिए स्थगित

0-सीडी कांड प्रकरण में सीबीआई जांच के दौरान रिंकू खनूजा की मौत मामले में स्थगन प्रस्ताव लाकर कांग्रेस ने की चर्चा कराए जाने की मांग
0-अध्यक्ष द्वारा अग्राह्य करने पर कांग्रेसी सदस्य गर्भगृह में किया प्रवेश, हुए निलंबित फिर बहाल
रायपुर । छत्तीसगढ़ विधानसभा के मानसून सत्र का पहला दिन काफी हंगामेदार रहा। दिवंगत नेताओं को श्रद्धांजलि के कारण आज जहां प्रश्रकाल नहीं हो पाया, वहीं शून्यकाल में कांग्रेस सदस्यों द्वारा प्रदेश के एक कैबिनेट मंत्री की कथित अश£ील सीडी मामले से जुड़े रिंकू खनूजा की सीबीआई जांच के दौरान हुई मौत मामले में स्थगन प्रस्ताव लाकर इस पर चर्चा कराए जाने की मांग की। विस अध्यक्ष ने यह कहते हुए कांग्रेस के स्थगन प्रस्ताव को अस्वीकार कर दिया कि सीबीआई केन्द्र सरकार के अधीन काम करती है इसलिए इस मुद्दे पर सदन में चर्चा नहीं कराई जा सकती। स्थगन प्रस्ताव अस्वीकार करने पर कांग्रेस सदस्यों ने सदन में हंगामा शुरू कर दिया। हंगामे के बीच कांगे्रस गर्भगृह में जाकर नारेबाजी करते हुए निलंबित भी हुए। अध्यक्ष द्वारा निलंबन समाप्त करने के बाद भी कांग्रेस सदस्यों का सदन में हंगामा जारी रहा, जिसके बाद अध्यक्ष ने सदन की कार्यवाही कल सुबह 11 बजे तक के लिए स्थगित कर दी। सदन की कार्यवाही अब मंगलवार को सुबह 11 बजे शुरू होगी।
रमन सरकार के कार्यकाल का अंतिम सत्र के पहले दिन की शुरूआत आज दिवंगत नेताओं को श्रद्धांजलि के साथ किया गया। विधानसभा अध्यक्ष गौरीशंकर अग्रवाल ने प्रदेश के पूर्व मंत्री हेमचंद यादव, पूर्व सांसद केयूर भूषण एवं पूर्व राज्यमंत्री विक्रम भगत के निधन का उल्लेघ करते हुए उनके जीवन पर प्रकाश डालते हुए अपने व सदन की ओर से उन्हें श्रद्धांजलि दी। मुख्यमंत्री डा. रमन सिंह, नेताप्रतिपक्ष टीएस सिंहदेव, संसदीय कार्यमंत्री अजय चंद्राकर, कृषि मंत्री बृजमोहन अग्रवाल, राजस्व मंत्री प्रेमप्रकाश पाण्डेय, महिला एवं बाल विकास मंत्री रमशीला साहू, संस्कृति मंत्री दयालदास बघेल, विधायक देवजीभाई पटेल, लाभचंद बाफना, शिवरतन शर्मा, कांग्रेस सदस्य भूपेश बघेल, सत्यनारायण शर्मा, अमरजीत भगत, धनेन्द्र साहू, अरूण वोरा एवं बसपा सदस्य कैशव चंद्रा द्वारा भी दिवंगतों के प्रति श्रद्धा सुमन अर्पित की। इस दौरान दिवंगतों को सदन में 2 मिनट का मौन धारण श्रद्धांजलि देते हुए दिवंगतों के सम्मान में सदन की कार्यवाही 5 मिनट के लिए स्थगित भी की गई। दिवंगतों के श्रद्धांजलि कार्यक्रम के चलते सदन में आज प्रश्रकाल नहीं हो पाया। प्रश्रकाल का पूरा समय श्रद्धांजलि कार्यक्रम में चला गया। सदन की कार्यवाही शून्यकाल से पुन: शुरू हुई। इस दौरान कांगे्रस सदस्य भूपेश बघेल ने सीडी कांड मामले से जुड़े रिंकु खनूजा की सीबीआई जांच पड़ताल के दौरान मौत के मामला उठाया। उन्होंने कहा कि इस मामले में उनके दल की ओर से स्थगन प्रस्ताव दिया गया है और चूंकि यह मामला काफी गंभीर है इसलिए सदन की अन्य कार्यवाही रोकते हुए उनके प्रस्ताव को ग्राह्य कर इस पर चर्चा कराए जाने की मांग अध्यक्ष से की। भूपेश बघेल के अलावा नेताप्रतिपक्ष टीएस ङ्क्षसहदेव, कवासी लखमा, धनेन्द्र साहू, अमरजीत भगत ने भी अध्यक्ष से स्थगन प्रस्ताव पर चर्चा कराए जाने की मांग की। कांगे्रस सदस्य भूपेश बघेल ने कहा कि चूंकि यह मामला सीडी कांड से जुड़ा हुआ है और सीबीआई की जांच के दौरान रिंकू खनूजा की मौत हुई है। श्री बघेल ने कहा कि इस मामले में रिंकु खनूजा की पत्नी ने स्वयं जिले के एसपी को पत्र लिखा है जिसमें उसने कहा कि उसके पति ने आत्महत्या नहीं बल्कि उसकी हत्या की गई है तथा इसकी जांच होनी चाहिए। कांग्रेस सदस्य ने कहा कि इस मामले में सीबीआई के साथ छग पुलिस भी संदेह के दायरे में है। रिंकू खनूजा की पीएम रिपोर्ट को अभी तक सामने नहीं लाया गया है। कांग्रेस सदस्यों की बात सुनने के बाद विधानसभा अध्यक्ष ने कांग्रेस के स्थगन प्रस्ताव पर व्यवस्था देते हुए कहा चूंकि सीबीआई का कार्य केन्द्र सरकार के अधीन होता है तथा इस मामले में सदन में चर्चा नहीं कराई जा सकती। यह कहते हुए अध्यक्ष ने स्थगन प्रस्ताव को अग्राह्य कर दिया। स्थगन प्रस्ताव अग्राह्य करने पर आपत्ति जताते हुए कांग्रेसी सदस्यों ने सदन में नारेबाजी करते हुए हंगामा शुरू कर दिया। हंगामे के बीच अध्यक्ष ने सदन की कार्यवाही 5 मिनट के लिए स्थगित कर दी। पुन: सदन की कार्यवाही शुरू होते ही कांग्रेस सदस्यों ने स्थगन प्रस्ताव पर चर्चा कराए जाने मांग को लेकर फिर हंगामा शुरू कर दिया और नारेबाजी करते हुए गर्भगृह में प्रवेश में जा पहुंचे। जिसके बाद अध्यक्ष ने सदन में मौजूद सभी कांग्रेस सदस्यों के निलंबन की घोषणा की। हालांकि थोड़ी देर बाद अध्यक्ष ने निलंबन को बहाल भी कर दिया, लेकिन कांग्रेस सदस्य इसके बाद भी सदन में नारेबाजी करते रहे। जिसके बाद अध्यक्ष ने सदन की कार्यवाही कल सुबह 11 बजे तक के लिए स्थगित कर दी। सदन की कार्यवाही अब मंगलवार को सुबह 11 बजे पुन: शुरू होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *