छत्तीसगढ़ ने देश को दिया पीडीएस, धान खरीदी और कौशल विकास का सर्वश्रेष्ठ मॉडल: डॉ. रमन सिंह

रायपुर (एनपी न्यूज)। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा है कि छत्तीसगढ़ ने सार्वजनिक वितरण प्रणाली, समर्थन मूल्य पर धान खरीदी और कौशल उन्नयन का सबसे बेहतर मॉडल देश को दिया है। क्षेत्रीय असंतुलन और पिछड़ेपन की चुनौतियों से उबरकर छत्तीसगढ़ अब विकास के रास्ते पर तेजी से आगे बढ़ रहा है। मुख्यमंत्री ने आज यहां एक प्राइवेट टेलीविजन समाचार चैनल ‘न्यूज 24  द्वारा आयोजित ‘मंथन  कार्यक्रम में इस आशय के विचार प्रकट किए। मुख्यमंत्री ने कहा कि – ग्लोबल रेटिंग एजेंसी क्रिसिल ने अपनी स्टेट ऑफ ग्रोथ रिपोर्ट में बिजली उपलब्धता, गैस, जल आपूर्ति और अन्य नागरिक सेवाएं प्रदाय करने छत्तीसगढ़ को देश में प्रथम स्थान पर रखा है। छत्तीसगढ़ देश में सबसे ज्यादा रोजगार उपलब्ध कराने वाले राज्यों में दूसरे स्थान पर है। मैन्यूफैक्चरिंग, व्यापार, परिवहन और कम्प्यूनिकेशन के क्षेत्र में छत्तीसगढ़ देश में दूसरे स्थान पर है। ग्लोबल एजेंसी ने वित्तीय सुदृढ़ता की दृष्टि से भी छत्तीसगढ़ को देश का सर्वश्रेष्ठ राज्य बताया है। छत्तीसगढ़ राजस्व आधिक्य वाला राज्य है।
उन्होंने प्रदेश के पिछले 14 वर्षों की विकास यात्रा पर विस्तार से प्रकाश डाला। डॉ. सिंह ने बताया कि इस अवधि में राज्य सरकार का बजट 7 हजार 500 करोड़ रूपए से बढ़कर 82 हजार करोड़ रूपए हो गया है। प्रति व्यक्ति बिजली की खपत जो पहले 600 यूनिट थी वो अब बढ़कर 1760 यूनिट प्रति व्यक्ति हो गई है। प्रति व्यक्ति आय भी 12 हजार रूपए से बढ़कर 92 हजार रूपए हो गई है। स्कूल शिक्षा से उच्च शिक्षा के लिए प्रवेश करने वाले विद्यार्थियों की संख्या में भी उल्लेखनीय वृद्धि हुई है। ग्रॉस इनरोलमेंट रेश्यो जो पहले 3.56 प्रतिशत था वह अब बढ़कर 21 प्रतिशत हो गया है। स्कूलों में बच्चों की ड्राप आउट रेट 11 प्रतिशत से घटकर मात्र 1 प्रतिशत रह गई है। प्रदेश में ग्रामीण सड़कें 16 हजार किलोमीटर थी, जो इस अवधि में अब बढ़कर 23 हजार किलोमीटर हो गई है। प्रदेश में 26 हजार करोड़ रूपए लागत के सड़क निर्माण कार्य प्रगति पर है। स्वास्थ्य सूचकांकों में भी उल्लेखनीय सुधार दर्ज किया गया है। दंतेवाड़ा, बीजापुर, नारायणपुर और सुकमा जैसे दूरस्थ अंचल के जिलों में बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं प्रदान की जा रही हैं। बीजापुर के जिला अस्पताल में 23 डॉक्टर और 55 पेरामेडिकल कर्मचारी काम कर रहे हैं। इस अस्पताल में रोज 300 मरीज देखे जाते हैं और एक माह में लगभग 300 सर्जरी भी की जाती है। दंतेवाड़ा के एजुकेशन हब का उल्लेख करते हुए मुख्यमंत्री ने बताया कि इस एजुकेशन हब में चार हजार बच्चे आवासीय विद्यालय में रहकर शिक्षा प्राप्त कर रहे हैं।
मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी द्वारा लिए गए नीतिगत फैसलों से छत्तीसगढ़ को विकास कार्यों के लिए अतिरिक्त संसाधन मिल रहे हैं, जिससे विकास कार्यों में तेजी आयी है। उन्होंने बताया है कि केन्द्रीय करों में राज्यों का हिस्सा 32 प्रतिशत से बढ़ाकर 42 प्रतिशत कर दिया गया है। जिला खनिज न्यास की स्थापना से विकास कार्यों के लिए प्रतिवर्ष लगभग 1280 करोड़ की अतिरिक्त रूपए की राशि प्राप्त हो रही है। उन्होंने बताया कि छत्तीसगढ़ को खनिजों से 4390 करोड़ रूपए की रॉयल्टी मिलती है। इसकी 33 प्रतिशत राशि खनिज धारित क्षेत्रों के विकास के लिए जिला खनिज न्यास निधि में जमा की जाती है। उन्होंने बताया कि मूल्य आधारित रॉयल्टी के फैसले से भी खनिजों से मिलने वाले राजस्व में वृद्धि हुई है।