कलश यात्रा से धार्मिक हो गया शहर का माहौल

  •  महामाया मंदिर में शत चंडी यज्ञ प्रारंभ
  •  कलश यात्रा में शामिल र्हुइं 2 हजार से अधिक महिलाएं
  •  वाहन में कलश को भी कराया नगर भ्रमण
    महासमुंद 29 जनवरी (एनपी)। नगर की कुल देवी मां महामाया मंदिर में आयोजित शत चंडी यज्ञ के तहत शनिवार प्रथम दिन मंदिर से शहर में भव्य कलश यात्रा निकाली गई। जिसमें दो हजार से अधिक महिलाएं एवं युवतियां लाल व पीला परिधान में शामिल हुई। जिससे पूरा शहर पीला एवं लाल रंग से सराबोर हो गया था। कलश यात्रा में आगे राउत नाचा व धुमाल पार्टी के कर्णप्रिय धुन में नृत्य करते हुए अगुवाई कर रहे थे। बीच में महामाया मंदिर में लगाने के लिए गए गए विशाल कलश को वाहन में दस पुरोहित के साथ रखा गया था।
    मां महामाया मंदिर में 28 जनवरी से 5 फरवरी तक चलने वाले शत चंडी यज्ञ का शुभारंभ हो गया है। कलश यात्रा में शामिल होने के लिए 2 हजार से अधिक महिलाएं पहले मंदिर परिसर में एकत्र हुई। सर्वप्रथम श्रद्धालुओं को स्वल्पहार कराया गया। बाद दोपहर 2 बजे मंदिर परिसर से कलश यात्रा निकाली गई। कलश यात्रा की लंबाई का अनुमान इसी से लगाया जा सकता है कि इसका एक छोर अंबेडकर चैक में था तो दूसरा छोर मंदिर परिसर में था। एक किलो मीटर से भी अधिक लंबी इस कलश यात्रा को देखने के लिए शहर के लोग उमड़ पड़े थे। कलश यात्रा स्व नीलकंठ राव साकरकर चैक, विठोबा टाकीज चैक, अंबेडकर चैक, स्वामी चैक, नेहरु चैक, कचहरी चैक, बरोंडा चैक, शास्त्री चैक, गांधी चैक होते हुए पुनरू महामाया मंदिर पहुंची। कलश यात्रा का शहर के हनुमान मंदिर के पास पुष्प वर्षा के साथ जगह-जगह स्वागत किया गया। इसके अलावा दुर्गोत्सव समितियों ने भी स्वागत किया। शाम को मंदिर परिसर में आयोजित आम भंडारा में बड़ी संख्या में श्रद्धालुओं ने प्रसाद ग्रहण किया।