पल्स पोलियो रविवार में प्रदेशभर में बहुउद्देशीय स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं ने बच्चों को दवा पिलाई

  •  मामला शून्य से पांच वर्ष के दवा से वंचित बच्चों का
    रायपुर 29 जनवरी (एनपी)।  पल्स पोलियो राष्ट्रीय अभियान के तहत आज पल्स पोलियो रविवार के अवसर पर राजधानी सहित प्रदेश के जिलामुख्यालयों तहसील मुख्यालयों एवं गांव-गांव में बहुउ्देदशीय स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं द्वारा शून्य से 5 वर्ष के पूर्व में दवा से वंङ्क्षचत बच्चों एवं नये शिशुओं को पोलियो पल्स की दवा पिलाई गई। स्वास्थ्य विभाग से मिली जानकारी के अनुसार शहर सहित प्रदेशभर में जागरूक माताओं एवं पिताओं ने स्वास्थ्य केंद्र पहुंचकर अपने बच्चों को पोलियो पल्स की दवा पिलवाई। राजधानी सहित प्रदेश के छोटे बड़े निजी चिकित्सा संस्थानों एवं क्लिानिकों में एवं शासकीय स्कूलों सहित सरकारी भवनों में सुबह से ही पल्स पोलियों की दवा पिलाने वाली टीम मौजूद थी। समाचार लिखे जाने तक पल्स पोलियो की दवा स्वास्थ्य केंद्रों सहित निजी चिकित्सा संस्थानों में बड़ी संख्या में बच्चों को पिलाने की जानकारी मिली है।
    गौरतलब है कि स्वस्थ्य शिशु और मुस्कुराते शिशु की भावना को आत्मसात करते हुये वर्षाे पूर्व यूएनओ ने पल्स पोलियो अभियान प्रारंभ कर इस घातक बीमारी से बचने के लिए विश्व के देशों से आव्हान किया था उस समय पोलियो की बीमारी से ग्रस्त बच्चों की संख्या विश्व के हर देश में बड़े पैमाने पर मौजूद थी। सीएमओ डा. टी के अग्रवाल के अनुसार लगातार वर्षों से चल रहे पोलियो पल्स अभियान का सकारात्मक नतीजा बड़े पैमाने पर मिला है। जिसके चलते अब पोलियो से ग्रस्त बच्चों की संख्या में प्रदेश में काफी कमी आई है। डा. अग्रवाल के अनुसार आने वाले समय में पोलियो मुक्त छग के लक्ष्य को पाने में स्वास्थ्य विभाग जनसहयोग से बड़ी सफलता प्राप्त करेगा। ऐसा उनका आत्मविश्वास है। डा. अग्रवाल ने बताया कि संपूर्ण प्रदेश के शासकीय चिकित्सा संस्थानों निजी क्षेत्र के चिकित्सा संस्थानों में मौजूद चिकित्सकों एवं पैरामेडिकल स्टाफ ने जिस जागरूकता के साथ इस अभियान में साथ दिया है उसके लिए वे उनके हदय आभारी है। आने वाले समय में जनसहयोग से पोलियो मुक्त छग के स्वप्र को साकार करने में उन्हें सफलता मिलेगी।