रिलायंस जियो 4-जी अपने प्री-पेड और पोस्टपेड ग्राहकों के लिए लाया यह सुविधा

नई दिल्ली,05 जनवरी (एनपी)। रिलायंस जियो का सिम लेने वालों के लिए एक राहत भरी खबर है. जिन लोगों ने मुफ्त कॉलिंग और इंटरनेट सर्फिंग के लिए जियो का सिम घंटों लाइन में लगकर लिया और यह देखने में विफल रहे कि जो कार्ड उन्हें मिला है वह प्रीपेड है या पोस्ट पेड, अब कंपनी ने उनके लिए एक अच्छी जानकारी दी है.
गौर करने की बात है कि कुछ जानकार लोगों ने सिम लेने से पहले ही इस बात पर गौर किया था कि जो वह सिम ले रहे हैं वह पोस्टपेड कनेक्शन का है या फिर प्री-पेड कनेक्शन का है, लेकिन कई लोग सिम पाने को इतने व्याकुल थे कि यह देख भी नहीं पाए जो सिम पाकर वे खुश हैं वह सिम कौन सा है.
इसके पीछे कारण यह रहा है कि कंपनी ने दोनों ही कनेक्शन के साथ जो फ्री कॉलिंग और फ्री इंटरनेट के साथ कई फ्री ऐप की सुविधा दी उससे कई कनेक्शन लेने वालों ने यह जानने का प्रयास नहीं किया.
यहां तक की कंपनी की ओर से सिम बेचने वालों तक ने कनेक्शन देते समय इस बारे में ग्राहकों को या कहें सिम लेने वालों को कोई जानकारी देना उचित नहीं समझा.
कंपनी से जब इस बारे में बात की गई तब उनका कहना था कि क्योंकि दोनों ही प्रकार के सिम में मिल रही सुविधाओं में फिलहाल कोई अंतर नहीं है, और 31 मार्च 2017 तक सभी सुविधाएं फ्री हैं. इसलिए जब तक फ्री ऑफर जारी है जब तक किसी प्रकार की चिंता की कोई बात नहीं है.
कंपनी की ओर बताया गया कि 31 मार्च 2017 के बाद कोई भी ग्राहक अपनी जरूरतों और प्रयोग के हिसाब से कनेक्शन को पोस्टपेड या फिर पोस्टपेड से प्रीपेड कर सकता है. कंपनी का कहना है कि 31 मार्च 2017 के बाद कंपनी इस प्रकार की सेवाएं उपलब्ध कराएगी.
वैसे, आपको थोड़ा सावधान होने की जरूरत है. क्योंकि जैसे ही फ्री ऑफर खत्म होगा आपके घर जियो का बिल आ जाएगा और नियम और शर्तों के मुताबिक आपको यह बिल चुकाना होगा.
इसलिए जरूरी है कि आप यह पता कर लें कि आपने जो सिम लिया है वह पोस्टपेड कनेक्शन का है या फिर वह प्रीपेड सिम है. उल्लेखनीय है कि फ्री वेलकम ऑफर के तहत रिलायंस जियो 31 मार्च तक फ्री अनलिमिटेड एचडी वॉइस, जियो नेट वाईफाई, डाटा, एचडी वीडियो, एसएमएस, जियो ऐप्स जैसी सुविधाएं अपने ग्राहकों को दे रहा है।