राजस्व मंत्री श्री पाण्डेय की अध्यक्षता में विभागीय समीक्षा बैठक : बॉयोमेट्रिक मशीन से दर्ज होगी पटवारियों की उपस्थिति

रायपुर, 24 दिसम्बर (एनपी)। राजस्व मंत्री श्री प्रेम प्रकाश पाण्डेय ने आज यहां मंत्रालय (महानदी भवन) में प्रदेश के सभी पांच संभागीय कमिश्नरों की बैठक लेकर राजस्व विभाग के काम-काज की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि राजस्व विभाग से संबंधित कानून आम जनता की सुविधा के लिए होनी चाहिए, यदि इसमें संशोधन या सरलीकरण की जरूरत हो तो निर्धारित प्रक्रिया के अनुसार इसके लिए उचित कार्रवाई की जानी चाहिए। श्री पाण्डेय ने अधिकारियों को पटवारियों की उपस्थिति बायोमेट्रिक मशीन से दर्ज करवाने की व्यवस्था करने के भी निर्देश दिए।
श्री पाण्डेय ने भू-राजस्व वसूली, अतिक्रमण, नामांतरण, बंटवारा, नजूल पट्टों के नवीनीकरण, भूमि व्यपवर्तन आदि मामलों की संभाग और जिलेवार समीक्षा की। उन्होंने संभागीय कमिश्नरों को राजस्व न्यायालयों में लंबित विभिन्न प्रकरणों के निराकरण में तेजी लाने और सीमांकन के प्रकरणों को प्राथमिकता से निपटाने के निर्देश दिए। श्री पाण्डेय ने कहा कि गौठान, तालाब, सड़क, स्कूल और सार्वजनिक निस्तार की जमीनों पर अतिक्रमण हटाने के मामलों में किसी भी प्रकार का समझौता नहीं करना चाहिए। अतिक्रमण के ऐसे मामलों में त्वरित कार्रवाई की जानी चाहिए।
बैठक में हल्कों में पटवारियों की उपस्थिति सुनिश्चित करने के लिए ग्राम पंचायतों में बॉयोमेट्रिक मशीन लगाने निर्णय लिया गया। पटवारियों को अपडेट करने और उनके प्रशिक्षण पर भी जोर दिया गया। बैठक में वर्तमान जरूरतों के अनुरूप और दुविधा वाली भू-राजस्व अधिनियम में संशोधन अथवा सरलीकरण करने की आवश्यकता महसूस की गयी। इसके लिए आगामी जनवरी माह में संभाग स्तर पर कमिश्नर, कलेक्टर्स और तहसीलदारों की कार्यशाला आयोजित करने का भी निर्णय लिया गया। बैठक में श्री पाण्डेय ने 45 दिन की सीमा तय कर डायवर्टेड भूमि का रिकार्ड संधारण एवं शुल्क की वसूली, कालोनियों की रिक्त भूमि का हक त्याग या शुल्क अदायगी, सीलिंग प्रकरणों की समीक्षा और सीमांकन को पूर्ण करने के निर्देश दिए। बैठक में राजस्व विभाग की वेबसाईट पर ÓÓसुझाव लिंकÓÓ शुरू करने के लिए एन.आई.सी. के अधिकारियों को निर्देश दिए गए।
बैठक में सचिव राजस्व श्री के.आर. पिस्दा, आयुक्त भू-अभिलेख श्री रमेश शर्मा, संयुक्त सचिव राजस्व श्री पी. निहलानी, रायपुर और दुर्ग संभाग के आयुक्त श्री बृजेश चन्द्र मिश्रा, बिलासपुर संभाग की आयुक्त श्रीमती निहारिका बारिक, बस्तर संभाग के आयुक्त श्री दिलीप वासनिकर और सरगुजा संभाग के आयुक्त श्री त्रिलोक चन्द्र महावर सहित राजस्व विभाग के अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।