20 हजार लोगों को मिलेगी नौकरी

नई दिल्ली 20 अगस्त (एनपी)। एस्सार ऑयल ने अगले 12 से 15 में देश भर में 5000 नए पैट्रोल पंप खोलने का लक्ष्य रखा है। मौजूद 2400 पैट्रोल पंप हैं कम्पनी 2600 नए पैट्रोल पंप खोलेगी। कम्पनी ने उम्मीद जताई है कि 2 से 3 साल में कम्पनी की सेल्स 1 करोड़ किलोलीटर हो जाएगी। एस्सार की मौजूदा सेल्स 25 लाख किलोलीटर है। एस्सार ऑयल के सीईओ ललित कुमार के मुताबिक तेल की कीमतों के नियंत्रण मुक्त होने से कंपनी को विस्तार करने का मौका मिला है। कुमार के मुताबिक कम्पनी का नैटवर्क एक साल पहले 1,600 था, जो अब बढ़कर 2400 हो गया है। एस्सार ऑयल के एमडी और सीईओ ललित कुमार गुप्ता के मुताबिक कम्पनी मार्च 2017 तक 4,300 आऊटलेट्स को शुरू कर देगी। उसके बाद कम्पनी बचे हुए आऊटलेट्स को स्थापित करने पर फोकस करेगी। फिलहाल एस्सार ऑयल के ज्यादातर पैट्रोल पंप टियर 2 और टियर 3 शहरों में है। ये पंप हाईवेज के आसपास खोले जाएंगे। कम्पनी इस योजना पर 2100 करोड़ रुपए का इन्वेस्टमेंट करेगी। वहीं नए पैट्रोल पंप खुलने से करीब 20 हजार नई नौकरियां पैदा होंगी। सरकार ने अक्तूबर 2014 से चरणबद्ध तरीके से डीजल की कीमतों को डी-रेग्युलेट करना शुरू किया था। ऐसा क्रूड की कीमतों में भारी गिरावट के बाद किया गया था। इसके बाद कम्पनियां एक्सपेंशन पर जोर दे रही हैं। एस्सार ऑयल गुजरात के वाडिनार में दूसरी सबसे बड़ी प्राइवेट सेक्टर की रिफाइनरी चलाती है, जिसकी सालाना क्षमता 2.3 करोड़ टन है। गुप्ता ने कहा कि कम्पनी इंडस्ट्री की ग्रोथ को देखते हुए रिटेल एक्सपेंशन की स्ट्रैटेजी पर काम कर रही है।  गुप्ता ने कहा, ‘हम अगले 2 से 3 साल में अपनी रिटेल सेल 25 लाख टन से बढ़कर 1 करोड़ टन होने की उम्मीद कर रहे हैं।Ó कम्पनी की उम्मीदें क्रूड की गिरती कीमतें, तेज शहरीकरण से मोबिलिटी में विस्तार और बुनियादी ढांचे में विस्तार पर टिकी हुई हैं। एस्सार ऑयल 2003 में रिटेल कारोबार में उतरी थी और यह इसमें उतरने वाली पहली घरेलू प्राइवेट सेक्टर की कम्पनी थी।