श्रीकांत रियो से बाहर, बैडमिंटन में सिंधू अब एकमात्र उम्मीद

रियो डि जिनेरियो 18 अगस्त (एनपी)। भारत के किदांबी श्रीकांत कड़ी चुनौती पेश करने के बावजूद आज यहां बैडमिंटन पुरूष एकल के क्वार्टर फाइनल में दो बार के गत चैम्पियन चीन के लिन डैन से हारकर रियो ओलिंपिक से बाहर हो गए जिससे भारत की पदक की उम्मीदें अब सिर्फ पीवी सिंधू पर टिकी हैं।   सिंधू ने शानदार प्रदर्शन करते हुए दुनिया की पूर्व नंबर एक खिलाड़ी और लंदन खेलों की रजत पदक विजेता वांग यिहान को 22-20, 21-19 से हराकर महिला एकल सैमीफाइनल में जगह बनाई। सिंधू कल सेमीफाइनल में जापान की नोजोमो ओकुहारा से भिड़ेंगी और इस मैच में जीत उनका पदक पक्का कर देगी।   पुरूष एकल में हालांकि भारत का अभियान खत्म हो गया जब चीन ओपन 2014 के फाइनल में पांच बार के विश्व चैम्पियन लिन डैन को हराने वाले गुंटूर के 21 साल के श्रीकांत को एक घंटे और चार मिनट चले क्वार्टर फाइनल में दुनिया के तीसरे नंबर के खिलाड़ी के खिलाफ 6-21, 21-11, 18-21 से शिकस्त का सामना करना पड़ा।  लिन डैन अब सेमीफाइनल में दो बार के रजत पदक विजेता चिर प्रतिद्वंद्वी मलेशिया के ली चोंग वेई से भिड़ेंगे। शीर्ष वरीय चोंग वेई ने क्वार्टर फाइनल में चीनी ताइपे के चाउ टिएन चेन को 21-9, 21-15 से हराया।  श्रीकांत पी कश्यप के बाद ओलिंपिक खेलों की पुरूष एकल स्पर्धा के क्वार्टर फाइनल में जगह बनाने वाले दूसरे भारतीय हैं। कश्यप लंदन खेलों के क्वार्टर फाइनल में पहुंचे थे।  दुनिया के पूर्व तीसरे नंबर के खिलाड़ी श्रीकांत शुरू में काफी नर्वस दिखे और पहला गेम सिर्फ 16 मिनट में हार गए।   श्रीकांत को नेट पर दिक्कत हो रही थी जिसका फायदा उठाते हुए लिन डैन ने 4-1 की बढ़त बनाई और फिर दबदबा बनाते हुए स्कोर 11-1 किया।