राजनीति के चलते बिहार का विकास अवरूद्ध हुआ: पीएम मोदी

पटना 25 जुलाई(एनपी)। सत्ता संभालने के बाद बिहार की अपनी पहली यात्रा पर यहां पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज कहा कि राजनीति के कारण राज्य का विकास अवरूद्ध हुआ है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि राज्य को 50 हजार करोड रुपये से ज्यादा का विशेष पैकेज उचित समय पर दिया जाएगा। बिहार में इस साल होने वाले विधानसभा चुनाव के मद्देनजर अपनी पार्टी का प्रचार अभियान शुरू करने के अलावा विभिन्न परियोजनाओं का शुभारंभ करने यहां आएं मोदी ने कहा, मैं नीतीश जी की इस बात से सहमत हूं कि राजनीति ने राज्य के विकास को अवरूद्ध किया है और इस तरह राज्य का बहुत नुकसान हुआ है। उन्होंने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के उस बयान के संदर्भ में यह बात कही जिसमें कुमार ने कहा था कि अगर 2004 का चुनाव राजग सरकार के कार्यकाल की समाप्ति के छह महीने पहले नहीं हुआ होता तो दनियावान बिहारशरीफ की 38 किलोमीटर लंबी रेलवे लाइन का काम पूरा हो गया होता। पूर्व रेल मंत्री लालू प्रसाद पर कटाक्ष करते हुए मोदी ने कहा, सरकार बदलने के बाद ,यहां से आए रेल मंत्रियों ने काम रूकवा दिया। जब हम सत्ता में आए तो हमने ये काम फिर शुरू करवाए। प्रधानमंत्री ने कहा, जो लोग राजनीति करना चाहते हैं उन्हें वह करने दीजिए। लेकिन, बिहार के लोगों को इससे नुकसान हुआ है। लोकसभा चुनाव से पहले बिहार को 50 हजार करोड़ रुपये का विशेष पैकेज देने के अपने वादे को दोहराते हुए मोदी ने कहा कि उचित समय आने पर इस वादे को पूरा किया जाएगा। उन्होंने कहा, मैंने जो बिहार की जनता से वादा किया था, उसे सही समय आने पर आगे बढ़कर निभाउंगा। उन्होंने कहा, एक समृद्ध बिहार के अपने सपने के तहत हम 50 हजार करोड़ रुपये से ज्यादा का पैकेज देंगे। यह मेरा वादा है। देश तभी तरक्की करेगा जब उसका पूर्वी हिस्सा तरक्की करेगा। बिहार का विकास हमारा मुख्य एजेंडा है, पूर्वी भारत का विकास हमारा मिशन है। ‘सहयोगात्मक संघवाद पर जोर देते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि राज्य का विकास देश के विकास के लिए आवश्यक है। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि अशिक्षा, बेरोजगारी और स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं जैसी परेशानियों को विकास के माध्यम से काबू किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि राज्यों को अब विकास के मामले में एक दूसरे के साथ मुकाबला करते देखना खुशी की बात है। प्रधानमंत्री ने कहा, दिल्ली में बैठकर विकास योजनाएं बनाने के दिन अब नहीं रहे। मेरी सरकार की प्राथमिकता ऐसी योजनाएं बनाना है जो राज्य के विकास की दृष्टि से उपयुक्त हों। उन्होंने कहा कि जब तक बिहार, पश्चिम बंगाल, ओडिशा, झारखंड, असम जैसे पूर्वी राज्यों और पूर्वोत्तर राज्यों का विकास नहीं हो जाता, तब तक देश वांछित विकास नहीं कर सकता। प्रधानमंत्री ने मुख्यमंत्री के इस विचार से असहमति जताई कि 14वें वित्त आयोग की सिफारिशों के कारण बिहार को नुकसान हुआ है। मोदी ने कहा कि 14वें वित्त आयोग की सिफारिशों के अनुसार केंद्रीय करों में राज्यों की हिस्सेदारी 10 प्रतिशत बढाने से बिहार को 2015 से 2020 तक पांच वर्षों में 3.75 लाख करोड़ रुपए मिलेंगे जो राशि पूर्ववर्ती हिस्सेदारी फार्मूले के अनुसार 1.50 लाख करोड़ रुपए ही होती। इससे पूर्व मुख्यमंत्री ने अपने भाषण में प्रधानमंत्री का बिहार में स्वागत किया और राज्य के भाजपा नेता सुशील कुमार मोदी को अपना ‘पुराना मित्र, नंद किशोर यादव को सबसे पसंदीदा पुराना मित्र और अभिनेता एवं राजनेता शत्रुघ्न सिन्हा को ‘बिहारी बाबू के रूप में संबोधित किया। कुमार ने इस अवसर पर उन परियोजनाओं में राज्य के योगदान का जिक्र किया जिन्हें प्रधानमंत्री ने शुरू किया है। उन्होंने कहा कि बिहार सरकार ने बिहटा में आईआईटी के नए कैंपस के लिए 500 एकड़ जमीन मुहैया कराई है। राज्य ने बरौनी में विद्युत परियोजनाओं के तहत 250 मेगावाट की दो इकाइयां शुरू करने के लिए 300 करोड़ रुपए दिए हैं। मुख्यमंत्री और प्रधानमंत्री को मंच पर एक दूसरे से बात करते देखा गया। प्रधानमंत्री ने कुमार के भाषण की प्रशंसा की। कुमार को लोजपा अध्यक्ष और केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान से भी बात करते देखा गया। मोदी ने दीनदयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना का उद्घाटन किया। उन्होंने दनियावां-बिहार शरीफ नई रेलवे लाइन का उद्घाटन किया और राजगीर-बिहार शरीफ-दनियावां- फतुहा यात्री ट्रेन और पटना- मुंबई एसी सुविधा एक्सप्रेस को हरी झंडी दी। इसके अलावा उन्होंने पटना में आईआईटी कैंपस का उद्घाटन किया और इन्क्युबेशन सेंटर फॉर मेडिकल इलेक्ट्रॉनिक्स का शिलान्यास किया। उन्होंने कहा कि आईआईटी को राज्य के विकास की आवश्यकताओं को पूरा करने में मदद करनी चाहिए। उन्होंने उम्मीद जताई कि इन्क्युबेशन सेंटर भारत में चिकित्सकीय उपकरणों के निर्माण में मदद करेगा ताकि वे सभी को आसानी से उपलब्ध हो सकें। उन्होंने ‘उर्जा गंगा लाने की बात करते हुए जगदीशपुर हल्दिया पाइपलाइन परियोजना का भी उद्घाटन किया। प्रधानमंत्री ने कहा कि गैस पाइपलाइन और रेल परियोजनाओं से राज्य में विकास होगा और लोगों का जीवन स्तर सुधरेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *