कॉल ड्रॉप पर शीर्ष अदालत के फैसले का अनुपालन करेगा ट्राई

नई दिल्ली 19 मार्च (एनपी)। भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण (ट्राई) ने आज कहा कि वह कॉल ड्रॉप पर उच्चतम न्यायालय के आदेश का अनुपालन करेगा। शीर्ष अदालत ने नियामक से कॉल ड्रॉप के तकनीकी पहलुओं तथा इस बात पर विचार करने को कहा है कि क्या जुर्माने पर नियमनों में संशोधन हो सकता है। ट्राई के चेयरमैन आर.एस. शर्मा ने आज कहा, ‘उच्चतम न्यायालय ने जो भी आदेश दिया है उसका अनुपालन किया जाएगा। उच्चतम न्यायालय ने कल नियामक से कॉल ड्रॉप के तकनीकी पहलुओं से संबंधित दस्तावेजों पर विचार करने को कहा था। साथ ही शीर्ष अदालत ने ट्राई से अपना रूख बताने को कहा था कि क्या दूरसंचार कंपनियों पर जुर्माना लगाने के नियमनों में संशोधन किया जा सकता है। न्यायमूर्ति कुरियन जोसफ की अगुवाई वाली पीठ ने कहा, ‘तथ्यात्मक दृष्टि से ऐसा लगता है कि नियमन तय करने के समय दस्तावेज नहीं देखे गये हैं। तकनीकी दस्तावेजों को देखने के बाद हलफनामा देकर बताएं कि क्या आप नियमनों में संशोधन करेंगे या इसपर कायम रहेंगे। आप जो भी कहते हैं उसकी वजह भी बताएं।  शर्मा ने एक साक्षात्कार में कहा, ‘चूंकि यह मामला अभी शीर्ष अदालत में लंबित है, तो ऐसे में मेरे लिए कोई निष्कर्ष देना उचित नहीं होगा। मैं सिर्फ यह कह सकता है कि उच्चतम न्यायालय के आदेश का उसके शब्दों व भावना के अनुरूप अनुपालन किया जाएगा। ट्राई अप्रैल में एक और दौर का परीक्षण करेगा जिससे यह पता चल सके कि कॉल ड्रॉप की समस्या में कोई सुधार हुआ है या नहीं।