हीरा कारोबारी ने PNB समेत 6 बैंकों को लगाया 187 करोड़ का ‘चूना’

नई दिल्लीः पंजाब नैशनल बैंक (पी.एन.बी.) में आए दिन नए घोटालों का खुलासा हो रहा है। नीरव मोदी के 14,000 करोड़ रुपए से ज्यादा के कथित घोटाले के बाद अब एक और मामला सामने आया है जिसमें नीरव मोदी की तरह एक हीरा कारोबारी ने पंजाब नैशनल बैंक समेत 6 बैंकों को 187 करोड़ रुपए का चूना लगाया है। केंद्रीय जांच ब्यूरो (सी.बी.आई.) ने इस कथित घोटाले को लेकर मामला दर्ज कर लिया है।

कंपनी के निदेशकों के खिलाफ FIR दर्ज
सी.बी.आई. ने दिल्ली की हीरा कारोबार कंपनी एस.एस.के. ट्रेडिंग प्राइवेट लिमिटेड और उसके निदेशकों के खिलाफ पंजाब नैशनल बैंक के साथ 187 करोड़ रुपए की धोखाधड़ी के मामले में प्राथमिकी दर्ज की है। अधिकारियों ने कहा कि कंपनी के निदेशकों सुरेंद्र कुमार बंसल और शेफाली बंसल के खिलाफ सी.बी.आई. ने भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत मुकद्दमा दर्ज किया है।

बढ़ गई लोन की राशि
आरोप है कि कंपनी का चांदनी चौक में शोरूम है। पी.एन.बी. बैंक के नेतृत्व वाले समूह ने कंपनी को 163 करोड़ रुपए की ऋण सुविधा को मंजूरी दी थी जिसमें पी.एन.बी. का हिस्सा 55 करोड़ रुपए है। सी.बी.आई. अधिकारियों ने बताया कि ऋण को 30 जून, 2014 में एन.पी.ए. घोषित कर दिया गया था। ऋण का भुगतान नहीं करने पर ऋण का कुल मूल्य बढ़ कर 187 करोड़ रुपए हो गया।

ICAI ने ब्रैडी हाऊस शाखा के आडिटरों को भेजा नोटिस
भारतीय सनदी लेखा संस्थान (आई.सी.ए.आई.) ने पंजाब नैशनल बैंक की ब्रैडी हाऊस शाखा के सांविधिक आडिटरों को नोटस भेजकर उसके अनुशासन बोर्ड के समक्ष पेश होने को कहा है। पी.एन.बी. की इसी शाखा में नीरव मोदी से संबंधित 13,000 करोड़ रुपए का घोटाला हुआ है। चार्टर्ड अकाऊंटैंट के शीर्ष संस्थान ने 2011-12 से 2016-17 तक के सांविधिक आडिटरों की सूची बनाई है और उन्हें अपनी अनुशासन बोर्ड के समक्ष पेश होने को कहा है।