सीरिया पर हमले के लिए अमेरिका, फ्रांस और ब्रिटेन ने किया इन मारक हथियारों का प्रयोग

 these are the weapons the america uk and france used to target syria
वॉशिंगटन, पैरिस ।  सीरिया में केमिकल हमले के बाद अमेरिका, फ्रांस और ब्रिटेन ने सीरियाई सरकार के खिलाफ बड़ी सैन्य कार्रवाई शुरू कर दी है। इस हमले में तीनों देशों ने कुछ अत्याधुनिक हथियारों का प्रयोग किया है। हवा में दूर तक लक्ष्य साधने में संभव मिसाइल और जेट से सीरिया पर हमला किया गया। सीएनएन में छपी रिपोर्ट के अनुसार, इस हमले में B-1 बॉम्बर्स, टोरनाडो जेट्स और युद्धपोत जैसे बड़े हथियार प्रयोग किए गए। जानें सीरिया को सबक सिखाने के लिए कौन से हथियारों और मिसाइल हुए प्रयोग…
टॉरनाडो जेट्स से दागी गईं मिसाइलें

ब्रिटेन के रक्षा मंत्रालय ने बताया कि चार टोरनाडो जेट्स से मिसाइलें दागी गईं। इसके अलावा फ्रांस के रक्षा मंत्रालय ने राफेल लड़ाकू विमानों से मिसाइल दागने के विडियो फुटेज जारी किया है। ट्विन इंजिन बेस्ट यह मिसाइल हवा में दूर तक मार कर सकने में सक्षम है। 400 किग्रा वजन सहन कर सकने में सक्षम टॉरनाडो जेट्स 400 किमी. की दूरी से लक्ष्य तक निशाना साध सकता है। इसका मतलब हुआ कि सीरिया के सैन्य ठिकानों को ध्वस्त करने के लिए ब्रिटेन को टॉरनेडो जेट्स को सीरियाई क्षेत्रों में प्रवेश की भी जरूरत नहीं है।

B-1 बॉम्बर्स से हमला
अमेरिकी रक्षा मंत्रालय की तरफ से दी गई जानकारी में बी-1 बॉम्बर्स का प्रयोग किए जाने की पुष्टि की गई। हालांकि, मंत्रालय की तरफ से इस बारे में और कोई जानकारी नहीं दी गई है।

टॉमहॉक क्रूज मिसाइल

अमेरिका का ब्रिटेन-फ्रांस के साथ सीरिया पर हवाई हमला
अमेरिका की मिसाइल क्रूज का इस्तेमाल
अमेरिका की नौसेना ने स्पष्ट किया कि सीरिया में हवाई हमले के लिए नौसेना की मिसाइल क्रूज का भी इस्तेमाल किया गया है। आरलीग ब्रूक क्लास विध्वंसक और टिकोनडर्गो क्लास क्रूजर्स के साथ दर्जनों टॉमहॉक क्रूज मिसाइल का प्रयोग इस हमले के लिए किया गया। इन सभी क्रूज मिसाइल से 2,500 किमी. की दूरी तक मार किया जा सकता है।

फ्रांस के राफेल जेट्स 

फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुअल मैक्रों ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर राफेल जेट्स के सीरिया हमले में प्रयोग की बात बताई। राफेल जेट्स की खासियत है कि ये हवा में दूर तक मार कर सकते हैं। फ्रांस के एयरबेस से उड़ान भरने का विडियो मैक्रों ने पोस्ट किया। 250 माइल्स की दूरी से मार कर सकने में सक्षम इन जेट्स को सीरिया की ओर से काउंटर मिसाइल हमले झेलने की जरूरत नहीं है।

टॉमहॉक क्रूज मिसाइल
टॉमहॉक क्रूज मिसाइल का प्रयोग पिछले साल भी सीरिया पर हमले के लिए अमेरिकी सरकार ने किया था। इन मिसाइल की खासियत है कि इनका लक्ष्य युद्ध के दौरान बदला जा सकता है और कम ऊंचाई पर उड़ सकने में सक्षम इन मिसाइलों की जद में दुश्मन के सटीक ठिकाने आ सकते हैं।