रायपुर । मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह आज विकास यात्रा के तीसरे दिन चौदहवें पड़ाव में कोण्डागांव जिले के केशकाल पहुंचे। उन्होंने वहां जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि जब तक मैं लोगों से नहीं मिलता हूं, संतुष्टि नहीं मिलती है। इसलिए मैं विकास यात्रा में भी जनता से सीधे मिल रहा हूं। उन्होंने कहा – किसानों के लिए 1700 करोड़ रुपये का धान बोनस बांटने और प्रदेश के लोगो को 30 हजार करोड़ रुपये के विकास कार्यों की सौगात देने मैं विकास यात्रा पर निकला हूं। डॉ. सिंह नेे कहा कि अगले 5 वर्षों में छत्तीसगढ़ देश का नंबर वन राज्य बनेगा। चार महीने के भीतर बस्तर सहित प्रदेश के सभी हिस्से में कोई भी घर अंधेरे में नहीं रहेगा। प्रधानमंत्री सहज बिजली हर घर योजना (सौभाग्य योजना) के तहत सभी घरों को रोशन कर दिया जाएगा। डॉ. सिंह ने केशकाल में उद्यान और मिनी स्टेडियम के निर्माण के लिए 40 लाख रूपए की स्वीकृति की घोषणा भी की।

मुख्यमंत्री ने कहा कि विकास यात्रा में लोगो का अपार समर्थन और सहयोग मिल रहा है। महिलाएं, बुजुर्ग, युवा सभी विकास यात्रा में सहभागी बन रहे हैं। यह अभूतपूर्व है। उन्होंने कहा कि जब कोंडागांव जिले का निर्माण किया गया था, तब लोग संदेह व्यक्त करते थे यह कैसे विकसित होगा। आज कोंडागांव में जिला मुख्यालय की सभी आधारभूत संरचना विकसित हो गई हैं।
मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने जनसभा में अमर शहीद गेंदसिंह, गुंडाधूर और शहीद वीर नारायण सिंह को याद किया। उन्होंने विकास यात्रा की चर्चा करते हुए कहा कि पिछले पंद्रह वर्षो में छत्तीसगढ़ के विकास में जनता की भागीदारी सुनिश्चित की गई है। हमारी सरकार को प्रदेश की जनता ने विकास करने का अवसर दिया। हमने विकास कर दिखा दिया। विकास की रफ्तार भी बढ़ी है। सड़क, रेल और एयर कनेक्टीविटी भी बढ़ी है। छत्तीसगढ़ देश में शिक्षा और ऊर्जा का हब बन गया है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि वनवासी देवी देवताओं के समान होते हैं। उनके दर्शन से उन्हें सुकून मिलता है और विकास करने की प्रेरणा मिलती है। केशकाल की सभा को लोक सभा सांसद श्री विक्रम उसेंडी और उच्च शिक्षा मंत्री श्री प्रेमप्रकाश पांडे ने भी संबोधित किया।