रायपुर : कबीर पंथियों के आस्था केन्द्र दामाखेड़ा से छत्तीसगढ़ को मिली देश-विदेश में विशिष्ट पहचान: मुख्यमंत्री

मुख्यमंत्री डॉ सिंह शामिल हुए दामाखेड़ा के संत समागम में दामाखेड़ा में तालाब सौन्दर्यीकरण, सड़क निर्माण, सीसी रोड सहित स्वागत द्वार निर्माण की घोषणा

रायपुर। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह आज बलौदाबाजार-भाटापारा जिले के कबीर धर्म नगरी दामाखेड़ा में आयोजित संत समागम में शामिल हुए। उन्होंने मेले में शामिल कबीरपंथ के अनुयायियों को बधाई और शुभाकामनाएॅ दी। मुख्यमंत्री ने दामखेड़ा के तालाब के सौन्दर्यीकरण, मुख्य सड़क से दामखेड़ा तक दो किलोमीटर तक फोर लेन सड़क चौड़ीकरण तथा मजबूतीकरण और दामाखेड़ा में सीसी रोड निर्माण तथा स्वागत द्वार निर्माण की घोषणा की।

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने संत समागम को संबोधित करते हुए कहा कि कबीर पंथियों के आस्था के केन्द्र दामाखेड़ा से छत्तीसगढ़ को देश-विदेश में विशिष्ट पहचान मिली है। मुख्यमंत्री ने कहा – दामाखेड़ा में हर साल माघ शुक्ल दशमीं से पूर्णिमा तक मेला एवं कबीर पंथियों के संत समागम होता है, इस साल इसका 114वां आयोजन है। यह स्वयं में एक अनूठा और गौरवशाली कीर्तिमान है। मेला में देश-विदेश से कबीर पंथ के लोग और संत महात्मा शामिल होते हैं। छत्तीसगढ़ संत महात्माओं की धरा है। राज्य के विकास में इनका सदैव से ही आशीर्वाद रहा है। संत कबीर का संदेश आज भी प्रासंगिक और अनुकरणीय है। उन्होंने प्रदेश में हो रहे विकास कार्यों के बारे में कहा कि छत्तीसगढ़ में उनके संदेशों का अनुसरण करते हुए समाज के अंतिम व्यक्ति तक विकास का लाभ दिलाया जा रहा है। यहां खद्यान्न एवं पोषण सुरक्षा सहित स्वास्थ्य, शिक्षा, अधोसरंचनाओं का समुचित विकास हुआ है। आने वाले समय में छत्तीसगढ़ देश के अग्रणी राज्यों में गिना जायेगा। उन्होंने बताया कि सौभाग्य योजना के तहत प्रदेश के सभी घरो में बिजली पहुंचायी जा रही है। इसी तरह मुख्यमंत्री स्वास्थ्य बीमा योजना के तहत अब प्रत्येक स्मार्ट कार्ड में तीस हजार से बढ़ाकर पचास हजार रूपये तक इलाज की सुविधा दी जा रही है।
विधानसभा अध्यक्ष श्री गौरीशंकर अग्रवाल ने कहा कि कबीर धर्म का संचालन दामाखेड़ा से हो रहा है, हम सब मिलकर कबीर के संदेश को जन-जन तक पहुंचा रहे हैं और इससे प्रदेश में सामाजिक समरसता का वातावरण बना है। छत्तीसगढ़ खनिज विकास निगम के अध्यक्ष श्री शिवरतन शर्मा ने दामाखेड़ा में आवश्यक निर्माण एवं विकास कार्यों को पूरा करने के संबंध में मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह को अवगत कराया। उन्होंने क्षेत्र के विकास के लिये सरकार द्वारा किये जा रहे विकास कार्यों  की सराहना की और उपलब्धियों को गिनाया। कबीर पंथ के 15वें पंथ श्री प्रकाश मुनि नाम साहब ने कहा कि कबीर पंथियों के आस्था के केन्द्र दामाखेड़ा में 1904 से यह समागम मेला का आयोजन हर वर्ष किया जाता है। जिसमें कबीरपंथ के अनुयायी बड़ी संख्या में शामिल होकर विचारों का अदान प्रदान करते हैं। इस अवसर पर संसदीय सचिव श्री लाभचंद बाफना, बेमेतरा विधायक श्री अवधेश चंदेल, पूर्व विधान सभा अध्यक्ष श्री धरम लाल कौशिक, जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती पूनम मारकण्डेय, कलेक्टर श्री राजेश सिंह राणा, पुलिस अधीक्षक श्री आर एन दाश, दामाखेड़ा सरपंच श्री कमलेश साहू तथा कबीर पंथ के अनुयायी बड़ी संख्या में मौजूद थे।