मोदी के दावे से भी आगे है, विद्युतीकरण क्षेत्र में शानदार काम कर रहा भारत : विश्व बैंक

Sharing it

 

वॉशिंगटन । देश के सभी गांवों तक बिजली पहुंचाने का दावा करने वाली मोदी सरकार को विश्व बैंक से बड़ी शाबाशी मिली है। विश्व बैंक ने कहा है कि भारत ने विद्युतीकरण के क्षेत्र में ‘बहुत अच्छा’ काम किया है और देश की 80 प्रतिशत से अधिक आबादी तक बिजली पहुंच गई है। इस सप्ताह जारी एक रिपोर्ट में कहा गया है कि 2010 से 2016 के बीच भारत ने प्रतिवर्ष 3 करोड़ लोगों को बिजली उपलब्ध कराई। यहां तक कहा गया है कि बिजली पर काम सरकार के दावे से भी अच्छा हुआ है।

विश्व बैंक की लीड एनर्जी इकॉनमिस्ट विवियन फोस्टर ने कहा कि भारत में 85 फीसदी जनसंख्या तक बिजली पहुंच चुकी है। उन्होंने यह भी कहा कि यह आंकड़ा भारत सरकार के दावे से अधिक है। उन्होंने कहा, ‘यह आपको हैरत में डाल सकता है, सरकार अभी 80 फीसदी घरों में ही बिजली पहुंचने की बात कह रही है।’

फोस्टर ने कहा कि पूरी दुनिया के विद्युतीकरण के 2030 के लक्ष्य तक भारत शेष आबादी तक भी बिजली पहुंचाने में कामयाब रहेगा। हालांकि रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि बांग्लादेश और केन्या में विद्युतीकरण की गति भारत के मुकाबले अधिक है।

यह रिपोर्ट ऐसे समय में आई है जब एक हफ्ते से भी कम समय पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के सभी गांवों के विद्युतीकरण की घोषणा की थी। देश के सभी गांवों में बिजली पहुंचाने के बाद सरकार अब हर घर तक बिजली पहुंचा रही है। सौभाग्य योजना के तहत सभी गरीब परिवारों को मुफ्त बिजली कनेक्शन दिया जा रहा है। सरकार का कहना है कि दिसंबर 2018 तक देश के सभी घरों में बिजली होगी।