नये लक्ष्यों को पाने के लिए नये तरीकों से काम करने की जरूरत : नरेन्द्र मोदी

  • : प्रधानमंत्री ने किया आयुष्मान भारत योजना के प्रथम चरण का शुभारंभ
  • हरी झंडी दिखाकर दल्लीराजहरा-भानुप्रतापपुर रेल सेवा की शुरूआत
  • बस्तर नेट परियोजना के प्रथम चरण का भी किया लोकार्पण

रायपुर ।    प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि पुराने रास्तों पर चलकर नई मंजिलों तक नहीं पहुंचा जा सकता। नये लक्ष्य पाने के लिए नये तरीकों से और दोगुनी मेहनत से काम करना होगा। उन्होंने कहा – जनता, जनप्रतिनिधि और सरकारी अधिकारी-कर्मचारी सब मिलकर संकल्प लें तो देश के आदिवासी बहुल बीजापुर जैसे 100 से ज्यादा आकांक्षी जिले महत्वाकांक्षी जिलों के रूप में परिवर्तन के नये मॉडल बनकर उभरेंगे। अभिलाषी बीजापुर के विकास से अभिलाषी छत्तीसगढ़ का भी तेजी से विकास होगा। बीजापुर जिले पर पिछड़े और कमजोर जिले का लेबल अब नहीं रहेगा। उन्होंने कहा – केन्द्र सरकार ने देश के सौ से ज्यादा ऐसे जिलों का चयन विकास के आकांक्षी जिलों  के रूप में किया है, जो आजादी के इतने वर्षाें बाद भी पिछड़े रह गए थे। इन जिलों के लोगों को भी विकास में साझीदार बनने का अधिकार है।
श्री मोदी ने आज संविधान निर्माता बाबा साहब डॉ. भीमराव अम्बेडकर की जन्म जयंती के अवसर पर छत्तीसगढ़ के बस्तर राजस्व संभाग के अंतर्गत ग्राम जांगला (जिला-बीजापुर) में आयुष्मान भारत योजना के प्रथम चरण में पूरे देश के लिए हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर का राष्ट्रीय शुभारंभ करते हुए एक विशाल जनसभा में इस आशय के विचार व्यक्त किए। श्री मोदी ने कहा -आयुष्मान भारत योजना के प्रथम चरण में देश के लगभग डेढ़ लाख बड़े गांवों में प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों और उप स्वास्थ्य केंद्रों को हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर के रूप में विकसित किया जाएगा। हमारा लक्ष्य बीमारियों के इलाज से पहले बीमारी को रोकने का होगा। इन केन्द्रों में इसके लिए आवश्यक सेवाएं दी जाएंगी। स्वास्थ्य जांच भी इन केन्द्रों में मुफ्त में करने का भरसक प्रयास किया जाएगा। प्रधानमंत्री ने हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर में मधुमेह, रक्तचाप और कैंसर जैसी बीमारियों के परीक्षण की सुविधाएं दी जाएंगी। इस योजना के तहत हमारा अगला लक्ष्य 50 करोड़ लोगों को गंभीर बीमारियों के इलाज के लिए सालाना पांच लाख रूपए तक स्वास्थ्य बीमा सुरक्षा देने का होगा। श्री मोदी ने कहा-आयुष्मान भारत योजना गरीबों, पीड़ितों, वंचितों, महिलाओं और आदिवासियों को ताकत देगी। उन्होंने अम्बेडकर जयंती पर आज से शुरू हुए राष्ट्रव्यापी ग्राम स्वराज अभियान का भी उल्लेख किया।

फैमिली डॉक्टर के रूप में काम करेंगे हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर

श्री मोदी ने कहा कि आयुष्मान भारत योजना में बन रहे हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर गरीबों के लिए पारिवारिक डॉक्टर (फैमिली डॉक्टर) के रूप में काम करेंगे। श्री मोदी ने लोगों से हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर का सरल भाषा में नामकरण करने के लिए सुझाव देने की अपील की। श्री मोदी ने यह भी बताया कि केन्द्र सरकार ने देश के 500 से ज्यादा अस्पतालों को किडनी के मरीजों के लिए डायलिसिस उपकरणों से सुसज्जित किया है। लगभग ढाई लाख मरीज इसका लाभ उठा चुके हैं। उनके डायलिसिस के 25 लाख सेशन हो चुके हैं।    उन्होंने इस अवसर पर अंचल में इंटरनेट सुविधाओं के विस्तार के लिए बस्तर नेट परियोजना के प्रथम चरण का भी शुभारंभ किया, जिसमें लगभग 400 किलोमीटर के ऑप्टिकल फाइबर केबल के जरिये दूर-दराज के गांवों तक इंटरनेट कनेक्टिविटी दी जा सकेगी। श्री मोदी ने इसके अलावा वहां जांगला के कार्यक्रम में बीजापुर और भैरमगढ़ के लिए पेयजल आपूर्ति योजना का भूमिपूजन किया। उन्होंने नक्सल पीड़ित क्षेत्रों में प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत बनने वाली 1998 किलोमीटर सड़कों और पुलों के निर्माण के लिए भी भूमिपूजन करते हुए इन्द्रावती और मिंगाचल नदियों में बनने वाले उच्च स्तरीय पुलों का भी शिलान्यास किया। श्री मोदी ने जांगला में विकास केन्द्र के शुभारंभ का उल्लेख करते हुए कहा – लोगों को पंचायत, राशन दुकान, अस्पताल और स्कूल जैसी सेवाएं इस केन्द्र में एक ही जगह पर मिलेगी। मुझे यह जानकर खुशी हुई कि छत्तीसगढ़ में ऐसे 14 विकास केन्द्र बनने जा रहे हैं, जो देश के अन्य राज्यों के लिए मॉडल बनेंगे।
श्री मोदी ने जनसभा में हरी झंडी दिखाकर राज्य के उत्तर बस्तर जिले के भानुप्रतापपुर से दल्लीराजहरा तक नई रेल सेवा का शुभारंभ किया। उन्होंने कहा – बस्तर अब रेल सेवा के जरिये रायपुर से भी जुड़ जाएगा। अगले दो वर्ष के भीतर इस परियोजना के तहत जगदलपुर तक रेल लाइन पहुंच जाएगी। इस वर्ष के अंत तक बस्तर में नया स्टील प्लांट काम करना शुरू कर देगा। बस्तर संभाग के मुख्यालय जगदलपुर में नया एयरपोर्ट भी अगले कुछ महीनोें में शुरू हो जाएगा। ये परियोजनाएं इस क्षेत्र के विकास को नई ऊंचाईयों तक पहुंचाएंगी। बस्तर बहुत जल्द आर्थिक गतिविधियों के एक बड़े केन्द्र (इकॉनामिक हब) के रूप में पहचाना जाएगा। नये भारत के साथ नया बस्तर, नई उम्मीदों, नई आकांक्षाओं और नई अभिलाषाओं का बस्तर होगा।

प्रधानमंत्री ने की डॉ. रमन सिंह की तारीफ

श्री मोदी ने रमन सरकार की प्रशंसा करते हुए कहा- छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह विगत 14 वर्षाें से बड़े परिश्रम के साथ जन कल्याण के लिए योजनाएं संचालित कर रहे हैं। केन्द्र में चार साल पहले नई सरकार के आने के बाद उनके इन प्रयासों को और भी ज्यादा ताकत मिली है। डॉ. रमन सिंह ने केन्द्र और राज्य की विकास योजनाओं को जनता की बेहतरी के लिए लागू करते हुए विकास के नए कीर्तिमान बनाए हैं। शासन और प्रशासन को उन्होंने जनता के नजदीक पहुंचाया है। प्रधानमंत्री ने इस सिलसिले में बस्तर और सरगुजा में विश्वविद्यालय और मेडिकल कॉलेजों की स्थापना, हर जिले में नये स्कूल और नये कॉलेजों की शुरूआत होने का भी जिक्र किया। प्रधानमंत्री ने कहा – बस्तर और सरगुजा के युवा भी अब डॉक्टर और इंजीनियर बन रहे हैं, लोकसेवा आयोग और संघ लोकसेवा आयोग की परीक्षाओं में सफल होकर सरकारी सेवाओं में आ रहे हैं।
श्री मोदी ने कहा – छत्तीसगढ़ ने चिकित्सा शिक्षा और स्वास्थ्य सेवाओं के क्षेत्र में भी क्रांतिकारी कदम उठाए हैं। राज्य में मेडिकल कॉलेजों की संख्या दो से बढ़कर 10 हो गई है। बीजापुर जैसे जिले में भी स्वास्थ्य सेवाओं का विकास हुआ है। मुझे आज यहां कई डॉक्टर मिले जो तमिलनाडु और उत्तर प्रदेश से आकर अपनी सेवाएं दे रहे हैं। केन्द्र सरकार की सौभाग्य योजना के तहत छत्तीसगढ़ में डॉ. रमन सिंह की सरकार हर घर को बिजली पहुंचाने का काम कर रही है। हजारों की संख्या में किसानों को सोलर सिंचाई पम्प दिए जा रहे हैं। राज्य के बस्तर अंचल में 400 किलोमीटर से ज्यादा नई सड़कों का निर्माण हुआ है, जहां जीप तक नहीं पहुंच पाती थी, वहां अब यात्री बसें पहुंचने लगी हैं।

देश की तस्वीर बदलेगी आयुष्मान भारत योजना: श्री जगतप्रकाश नड्डा

समारोह की अध्यक्षता करते हुए केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री श्री जगतप्रकाश नड्डा ने आयुष्मान भारत योजना को स्वास्थ्य सेवाओं की दृष्टि से देश की तस्वीर बदलने वाली योजना बताया। श्री नड्डा ने लोगों को सम्बोधित करते हुए कहा – इस योजना का श्रीगणेश प्रधानमंत्री के हाथों बीजापुर से हो रहा है। श्री मोदी ने जनकल्याण के लिए इस प्रकार की अनेक योजनाओं को नया अंजाम दिया है और नई दृष्टि दी है। स्वच्छ भारत के साथ-साथ स्वस्थ भारत का निर्माण उनका लक्ष्य है। केन्द्र सरकार की यह कोशिश है कि कोई भी व्यक्ति रोगी न हो और सबकी काया निरोगी हो और गरीब से गरीब व्यक्ति भी इलाज से वंचित न हो। श्री नड्डा ने बाबा साहब डॉ. भीमराव अम्बेडकर की जयंती पर प्रधानमंत्री के हाथों आयुष्मान भारत योजना के प्रथम चरण के शुभारंभ को अत्यंत महत्वपूर्ण बताया। श्री नड्डा ने कहा कि इस योजना को सफल बनाने के लिए स्वास्थ्य मंत्रालय सभी संबंधित विभागों के साथ मिलकर पूरी ताकत के साथ काम करेगा।
आयुष्मान भारत पूरे देेश में स्वास्थ्य के क्षेत्र में क्रांति लाने वाली योजना: डॉ. रमन सिंह

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने जांगला की जनसभा में छत्तीसगढ़ की जनता की ओर से प्रधानमंत्री का स्वागत करते हुए कहा -बाबा साहब आम्बेडकर की जयंती के दिन प्रधानमंत्री ने अपने कार्यक्रम के लिए बीजापुर जिले का चयन किया और उन्होंने यहां स्वास्थ्य के क्षेत्र में पूरे देश में क्रांति लाने वाली आयुष्मान भारत योजना के तहत हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर की शुरूआत की। मुख्यमंत्री ने कहा – अम्बेडकर जयंती पर प्रधानमंत्री श्री मोदी के आगमन से बीजापुर जिले के साथ-साथ  छत्तीसगढ़ के अनुसूचित जाति और जनजाति वर्ग के लोगों में आत्म विश्वास बढ़ा है। आकांक्षी जिले के रूप में प्रधानमंत्री ने बीजापुर जिले का भी चयन किया है। उनकी उज्ज्वला योजना के तहत छत्तीसगढ़ में 35 लाख से ज्यादा गरीब परिवारों को रसोई गैस कनेक्शन देने का काम तेजी से चल रहा है। अब तो प्रधानमंत्री ने अनुसूचित जाति-जनजाति वर्ग के शत-प्रतिशत परिवारों को इस योजना से जोड़ने का निर्णय लिया है। सौभाग्य योजना के तहत बीजापुर से बलरामपुर तक अगले पांच महीने में छत्तीसगढ़ के पांच लाख 40 हजार घरों को बिजली का कनेक्शन दे दिया जाएगा। मुख्यमंत्री ने कहा – राज्य सरकार ने तेन्दूपत्ता संग्राहकों का पारिश्रमिक 1800 रूपए प्रति मानक बोरे से बढ़ाकर ढाई हजार रूपए कर दिया है, जो देश में सर्वाधिक है। मुख्यमंत्री ने जिला खनिज न्यास निधि की स्थापना के लिए प्रधानमंत्री को धन्यवाद दिया और कहा कि इस निधि से छत्तीसगढ़ में लगभग चार हजार करोड़ रूपए के विकास कार्य हो रहे हैं। प्रधानमंत्री ने नीति आयोग का गठन करते हुए इस आयोग के जरिये केन्द्रीय राजस्व से राज्यों की हिस्सेदारी 32 प्रतिशत से बढ़ाकर 42 प्रतिशत कर दी है, जिसका लाभ छत्तीसगढ़ को भी मिल रहा है। दल्लीराजहरा से भानुप्रतापपुर तक और आगे चलकर जगदलपुर तक रेल सेवा का विस्तार होगा।
समारोह में छत्तीसगढ़ सरकार के स्कूल शिक्षा और आदिम जाति विकास मंत्री श्री केदार कश्यप, राजस्व और उच्च शिक्षा मंत्री श्री प्रेमप्रकाश पाण्डेय, लोक निर्माण मंत्री श्री राजेश मूणत, वन मंत्री श्री महेश गागड़ा, स्वास्थ्य और ग्रामीण विकास मंत्री श्री अजय चन्द्राकर, राष्ट्रीय अनुसूचित जनजाति आयोग के अध्यक्ष श्री नंदकुमार साय बस्तर के लोकसभा सांसद श्री दिनेश कश्यप, पूर्व विधानसभा अध्यक्ष श्री धरमलाल कौशिक तथा अन्य अनेक वरिष्ठ जनप्रतिनिधि भी उपस्थित थे। प्रदेश सरकार के मुख्य सचिव श्री अजय सिंह और अन्य संबंधित वरिष्ठ अधिकारी भी समारोह में मौजूद थे।