अफगानिस्तान में 7 भारतीय इंजिनियरों का अपहरण

Sharing it

काबुल। अफगानिस्तान में रविवार सुबह बागलान प्रांत में कुछ अज्ञात बंदूकधारियों ने एक कंपनी में काम कर रहे 7 भारतीय इंजिनियरों समेत 8 कर्मचारियों को अगवा कर लिया। न्यूज एजेंसी रॉयटर्स ने अधिकारियों के हवाले से रिपोर्ट दी है कि अफगानिस्तान के उत्तरी बागलान प्रांत में एक पावर प्लांट में काम कर रहे 7 भारतीय इंजिनियरों और एक अफगानी कर्मचारी का अपहरण हुआ है। बागलान प्रांत ने इस घटना से आतंकी संगठन तालिबान का नाम जोड़ा है, लेकिन अभी तक किसी संगठन ने इसकी जिम्मेदारी नहीं ली है। शुरुआत में लोकल मीडिया रिपोट्र्स में 6 भारतीयों के अपहरण की बात कही गई थी।
अफगानिस्तान की न्यूज एजेंसी टोलो न्यूज के मुताबिक बंदूकधारियों ने बागलान प्रांत की राजधानी पुल-ए-खोमरे के बाग-ए-शामल गांव के पास से इंजिनियरों को अगवा किया। बागलान पुलिस के प्रवक्ता जबीहुल्लाह शुजा ने रॉयटर्स को बताया कि ये इंजिनियर एक मिनी बस से सरकारी पावर स्टेशन जा रहे थे तभी अज्ञात बंदूकधारियों ने उन्हें और उनके अफगानी ड्राइवर को अगवा कर लिया। काबुल में भारतीय दूतावास के 2 अधिकारियों ने भी इंजिनियरों के अपहरण की पुष्टि की है। ये इंजिनयर दा अफगानिस्तान ब्रेशना शेरकट के लिए काम करते हैं जो पावर स्टेशनों को संचालित करती है।
भारतीय दूतावास के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि अभी अफगानिस्तान में बड़े इन्फ्रस्ट्रक्चर प्रॉजेक्ट्स में 150 से ज्यादा भारतीय इंजिनियर और तकनीकी विशेषज्ञ काम कर रहे हैं। अधिकारी ने कहा, ‘हम अपने इंजिनियरों की रिहाई सुनिश्चित करने के लिए काम शुरू कर चुके हैं।  अभी यह पता नहीं चला है कि अपहरण के पीछे कौन जिम्मेदार है और क्या इंजिनियरों की रिहाई के बदले किसी तरह की फिरौती की मांग भी की गई है या नहीं। दरअसल अफगानिस्तान में फिरौती के लिए अपहरण की घटनाओं सामान्य हैं। गरीबी और बढ़ती बेरोजगारी की वजह से स्थितियां और खराब हुई हैं। 2016 में एक भारतीय सहायतीकर्मी का काबुल में अपहरण हुआ था जिसे अपहर्ताओं ने 40 दिनों बाद छोड़ा था। भारत सरकार अफगानिस्तान में रह रहे या यात्रा कर रहे भारतीयों के लिए नियमित तौर पर सिक्यॉरिटी अलर्ट जारी करती रही है। विदेश मंत्रालय ने भारतीयों के अगवा होने की पुष्टि की है और कहा है कि वह अफगानिस्तान के अधिकारियों के संपर्क में है। भारतीय नागरिकों के अपहरण की रिपोट्र्स से जुड़े सवालों के जवाब में विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा, ‘हम अफगानिस्तान के बागलान प्रांत से भारतीय नागरिकों के अपहरण से वाकिफ हैं। हम अफगान अधिकारियों के साथ संपर्क में हैं।Ó (रॉयटर्स)